दिशा से दशा तक

दृष्टि की दिशा बदलो, जीवन की दशा बदलेगी ।

दृष्टि की दिशा अंतरमुख की ओर कर अंतःकरण में झांको, सभी समस्याऐं सुलझ जाएँगी व समस्त संसार की दशा सुधर जाएगी।

दृष्टि की दिशा अंतर्मन में जैसे जैसे स्थिर होती जाएगी, वैसे वैसे सुख, संतोष व शांति की लौ हर दशा में जगमगाएगी।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.